आत्मनिर्भर भारत के साथ महिलाओं का आत्मनिर्भर होना ज़रूरी

आईआईएस विश्वविद्यालय के सेंटर फॉर वीमन्स स्टडीज़ एवं एनएसएस यूनिट्स की ओर से स्वयंसेवी संस्था कनेक्ट सिग्नल के तत्वावधान एवं बॉश इंडिया सोशल एंगेजमेंट के सहयोग से अंतराष्ट्रीय महिला दिवस के अवसर पर विश्व्विद्यालय की छात्राओं के लिए एक कार्यक्रम आयोजित किया गया। इस मौके पर मुख्य अतिथि के तौर पर मौजूद थीं डॉ सौम्या गुर्जर, मेयर, नगर निगम, जयपुर ग्रेटर।

कार्यक्रम की शुरूआत दीप प्रज्ज्वलन से हुई। तत्पश्चात् विश्वविद्यालय के कुलाधिपति डॉ अशोक गुप्ता ने छात्राओं को सम्बोधित करते हुए उन्हें अंतराष्ट्रीय महिला दिवस की शुभकामनाएं दीं। कार्यक्रम को आगे बढ़ाते हुए मेयर डॉ सौम्या गुर्जर ने समाज में महिलाओं की भूमिका के बारे में प्रेरित शब्दों के साथ अपने उद्बोधन की शुरूआत की। मेयर ने वहां मौजूद महिलाओं को यह अहसास करवाया कि जितनकी शक्ति उनमें है उतनी किसी पुरूष में नहीं है इसलिए महिलाओं को अपने अंदर छिपी ताकत को पहचानने एवं आत्मनिभर्र बनने की ज़रूरत है।

इसके पश्चात् मोहनपुरा सांगानेर की ग्रामीण महिला कारिगरों द्वारा तैयार किए गए कॉटन बैग्स को रीलिज़ किया गया जिसका मकसद देश को प्लास्टिक मुक्त करना था। कार्यक्रम के अंतिम चरण में उन सफल ग्रामीण महिलाओं को सम्मानित किया गया जिन्होंने विभिन्न अनिश्चितताओं का सामना करते हुए अपने व परिवार की बागडोर हाथ में लेते हुए स्वयं को आत्मनिर्भर बनाया। एनएसएस कॉ-ऑर्डिनेटर डॉ शरद राठौड़ ने उपस्थित अतिथिगणों एवं छात्राओं को धन्यवाद ज्ञापित किया। मेयर सौम्या गुर्जर, डॉ अशोक गुप्ता एवं रजिस्ट्रार डॉ राखी गुप्ता ने विश्वविद्यालय लॉन्स में लगी एक्ज़िबिशन का आनन्द उठाया जिसमें महिला कारिगरों ने गोटा पत्ती, ब्लॉक प्रिंटिंग की बारीकियां सिखाने की कोशिश की।

कार्यक्रम का अंत आईआईएसयू थिएट्रिकल सोसायटी की छात्राओं द्वारा प्रस्तुत नुक्कड़ नाटक से हुआ।

Exit mobile version